होम / आर्थिक कैलेंडर

आर्थिक कैलेंडर

FX Author Jeffrey Cammack द्वारा Author Information अपडेटेड: 24 09 19

बाजारों में ब्योरों पर ध्यान देना हमेशा आपके कारोबार में मदद करेगा। यह आर्थिक कैलेंडर आपको बाजार और मुद्रा-जोड़ी पर असर डालने वाली विभिन्न गतिविधियों की ओर से लगातार अपडेट रखेगा। मैं आपको इस पेज को बुकमार्क करने और अपने ट्रेडिंग दिवस की योजना बनाने के लिए विजिट करते रहने की सिफारिश करूंगा। सभी फोरेक्स ब्रोकरों के पास यह यह जानकारी उपलब्ध रहनी चाहिए।

यदि आप फंडामेंटल ट्रेडर हैं, तो यह डेटा आपका स्टार्ट पेज बन जाएगा। मुख्य अमेरिकी नियमित घटनाएं जैसे कि NFP रिपोर्ट की मासिक रिलीज निर्धारित हैं और बड़े लाभ के लिए उनका ट्रेड किया जा सकता। इसके अलावा, संयुक्त राज्य अमेरिका के फेडरल रिजर्व की मीटिंग से नोट की रिलीज भी निर्धारित है और एक इसका बड़ा प्रभाव हो सकता है। एक व्यापारी के रूप में, आपको पता होना चाहिए कि ये घटनाएँ कब होंगी और उनके द्वारा पैदा की गयी वोलाटिलिटी में आपको कारोबार करने के लिए तैयार रहने की जरूरत है।

सिर्फ ऐसी पुनरावृत्ति वाली घटनायें ही नहीं है जो मुद्रा बाजारों को प्रभावित कर सकती है। वर्तमान में, राष्ट्रपति मीटिंग में हैं और इसके बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस होगी। ब्रेक्सिट के बाद GBP के मूल्य को प्रभावित करने के लिए प्रेस विज्ञप्तियां भी हैं। हर बार उत्तरी कोरिया जब जापान पर मिसाइल दागता है, मुद्राएं हलचल में आ जाती हैं।

इन बैठकों में से कुछ जहाँ ऊपर दिए गए कैलेंडर में होंगी, वहीं आपको न्यूज इवेंट की जानकारी देने वाले स्रोतों को पढ़ते रहना होगा। ये समाचार आपको उन घटनाओं की जानकारी देंगे जो आपके कारोबार वाली मुद्राओं के फंडामेंटल में बदलाव कर सकती हैं।

एक आर्थिक कैलेंडर के अलावा, ऐसे अन्य उपकरण भी हैं जो व्यापारियों के लिए महत्वपूर्ण हैं। इन उपकरणों में से अधिकांश उन प्लेटफ़ॉर्म में बने होते हैं जिन पर आप ट्रेड करते हैं, लेकिन अपने विचारों के परीक्षण के लिए उन उपकरणों को हाथ में रखना भी अच्छा रहेगा। यहाँ ट्रेडिंग टूल्स का एक पूरा सेट है जिन्हें कैसे उपयोग किया जाए यह आपको जानना चाहिए, इनमें से कुछ तो सदस्यता शुल्क चुकाने लायक हैं।

बॉटम लाइन – आपको यह जानना चाहिए कि आप किस किस्म के ट्रेडर हैं। एक बार आपने यह समझ लिया तो आपको पता चलेगा कि एक आर्थिक कैलेंडर आपकी रणनीति में कैसे फिट बैठता है। एक व्यापार योजना बनाना और विभिन्न ट्रेड के साथ जुड़े जोखिम की समझ आपको एक जिम्मेदार और फायदेमंद ट्रेडर बनने में मदद करेगा।

फॉरेक्स और CFD की ट्रेडिंग सभी निवेशकों के लिए उपयुक्त नहीं होती है और लीवरेज के कारण तेजी से पैसा गंवाने का हाई रिस्क लिए होती है। 75-90% रिटेल इन्वेस्टर इन प्रोडक्ट में ट्रेडिंग करते हुए पैसा गंवाते हैं। आपको यह तय करना चाहिए कि क्या आप समझते हैं कि CFD ट्रेडिंग कैसे काम करती है और क्या आप पैसा गंवाने का भारी जोखिम उठाने की स्थिति में हैं।
>