ट्रेडिंग एक्सपीरियंस
Trading Conditions
Account Types
Trading Platforms
नियामक

बेहतरीन सीएफडी ट्रेडिंग प्लेटफार्म क्या है?

Total 5 | इसके अनुसार क्रमबद्ध करें :
ट्रेडिंग एक्सपीरियंस
Trading Conditions
Account Types
Trading Platforms
नियामक
  • न्यूनतम जमाराशि
    USD 100
    ट्रेडिंग इंस्ट्रूमेंट
    • Commodities
    • Cryptocurrencies
    • Forex
    • Indicies
    • Equities
    • ETFs
    ब्रोकर की टाइप

    Market Maker

    द्वारा विनियमित
    ASIC ASIC
    FSCA FSCA
    B.V.I FSC B.V.I FSC
    FSA FSA
    ट्रेडिंग प्लेटफ़ॉर्म
    • MetaTrader4
    • WebTrader
    डिपाजिट मेथड
    • POLi
    • Visa
    • Mastercard
    • Skrill
    • Neteller
    • Paypal
    • Bank Transfer
    Trading Conditions
    • अधिकतम लिवरेज : 400:1
    • न्यूनतम स्प्रैड : 0.7 pips
    • करेंसी पेयर्स : 50+
    अकाउंट से स्प्रेड कमीशन निष्पादन न्यूनतम डिपॉजिट
    Professional 1.3 pips None Instant USD 100 खाता विवरण
    Retail 1.3 pips None Instant USD 100 खाता विवरण
    TRADING INSTRUMENTS
    • Commodities
    • Cryptocurrencies
    • Forex
    • Indicies
    • Equities
    • ETFs
    TRADING PLATFORMS
    • MetaTrader4
    • WebTrader
    DEPOSIT METHODS
    • POLi
    • Visa
    • Mastercard
    • Skrill
    • Neteller
    • Paypal
    • Bank Transfer
    Trading Conditions
    • Max. Leverage : 400:1
    • Min. Spread : 0.7 pips
    • Currency Pairs : 50+
  • न्यूनतम जमाराशि
    USD 5
    ट्रेडिंग इंस्ट्रूमेंट
    • Commodities
    • Cryptocurrencies
    • Forex
    • Indicies
    • Metals
    • Equities
    • Energies
    ब्रोकर की टाइप

    Market Maker

    द्वारा विनियमित
    CySEC CySEC
    FCA FCA
    ASIC ASIC
    IFSC IFSC
    ट्रेडिंग प्लेटफ़ॉर्म
    • MetaTrader4
    • MetaTrader5
    • WebTrader
    डिपाजिट मेथड
    • Bank Transfer
    • Sofort Banking
    • Visa
    • Mastercard
    • Maestro
    • Skrill
    • Neteller
    • Bitcoin
    • Unionpay
    Trading Conditions
    • अधिकतम लिवरेज : 500:1
    • न्यूनतम स्प्रैड : 0.0 pips
    • करेंसी पेयर्स : 57
    अकाउंट से स्प्रेड कमीशन निष्पादन न्यूनतम डिपॉजिट
    Micro 1.0 pips None Instant USD 5 खाता विवरण
    Standard 1.0 pips None Instant USD 5 खाता विवरण
    XM Ultra Low 0.6 pips None Instant USD 50 खाता विवरण
    TRADING INSTRUMENTS
    • Commodities
    • Cryptocurrencies
    • Forex
    • Indicies
    • Metals
    • Equities
    • Energies
    TRADING PLATFORMS
    • MetaTrader4
    • MetaTrader5
    • WebTrader
    DEPOSIT METHODS
    • Bank Transfer
    • Sofort Banking
    • Visa
    • Mastercard
    • Maestro
    • Skrill
    • Neteller
    • Bitcoin
    • Unionpay
    Trading Conditions
    • Max. Leverage : 500:1
    • Min. Spread : 0.0 pips
    • Currency Pairs : 57
  • न्यूनतम जमाराशि
    USD 100
    ट्रेडिंग इंस्ट्रूमेंट
    • Forex
    • Indicies
    • Metals
    • Equities
    • Energies
    • Futures
    ब्रोकर की टाइप

    NDD Intervention Market Maker

    द्वारा विनियमित
    CySEC CySEC
    FSCA FSCA
    ट्रेडिंग प्लेटफ़ॉर्म
    • MetaTrader4
    • MetaTrader5
    • WebTrader
    • cTrader
    • FxProEdge
    डिपाजिट मेथड
    • Bank Transfer
    • Visa
    • Mastercard
    • Maestro
    • Skrill
    • Neteller
    • Unionpay
    Trading Conditions
    • अधिकतम लिवरेज : 500:1
    • न्यूनतम स्प्रैड : 0.6 pips
    • करेंसी पेयर्स : 70+
    अकाउंट से स्प्रेड कमीशन निष्पादन न्यूनतम डिपॉजिट
    FxPro cTrader 0.45 pips $4.50 Market USD 100 खाता विवरण
    FxPro MT4 1.2 pips None Market USD 100 खाता विवरण
    FxPro MT5 1.52 pips None Market USD 100 खाता विवरण
    Islamic 1.2 pips Variable Market USD 100 खाता विवरण
    TRADING INSTRUMENTS
    • Forex
    • Indicies
    • Metals
    • Equities
    • Energies
    • Futures
    TRADING PLATFORMS
    • MetaTrader4
    • MetaTrader5
    • WebTrader
    • cTrader
    • FxProEdge
    DEPOSIT METHODS
    • Bank Transfer
    • Visa
    • Mastercard
    • Maestro
    • Skrill
    • Neteller
    • Unionpay
    Trading Conditions
    • Max. Leverage : 500:1
    • Min. Spread : 0.6 pips
    • Currency Pairs : 70+
  • न्यूनतम जमाराशि
    USD 200
    ट्रेडिंग इंस्ट्रूमेंट
    • Commodities
    • Cryptocurrencies
    • Forex
    • Indicies
    • Equities
    ब्रोकर की टाइप

    Market Maker

    द्वारा विनियमित
    CySEC CySEC
    FCA FCA
    ASIC ASIC
    ट्रेडिंग प्लेटफ़ॉर्म
    • etoro
    डिपाजिट मेथड
    • Visa
    • Mastercard
    • Neteller
    • Unionpay
    Trading Conditions
    • अधिकतम लिवरेज : 400:1
    • न्यूनतम स्प्रैड : 2.0 pips
    • करेंसी पेयर्स : 47
    अकाउंट से स्प्रेड कमीशन निष्पादन न्यूनतम डिपॉजिट
    Standard 1.0 pips None Market USD 200 खाता विवरण
    TRADING INSTRUMENTS
    • Commodities
    • Cryptocurrencies
    • Forex
    • Indicies
    • Equities
    TRADING PLATFORMS
    • etoro
    DEPOSIT METHODS
    • Visa
    • Mastercard
    • Neteller
    • Unionpay
    Trading Conditions
    • Max. Leverage : 400:1
    • Min. Spread : 2.0 pips
    • Currency Pairs : 47
  • न्यूनतम जमाराशि
    USD 100
    ट्रेडिंग इंस्ट्रूमेंट
    • Commodities
    • Cryptocurrencies
    • Forex
    • Indicies
    • Metals
    • Vanilla Options
    ब्रोकर की टाइप

    Market Maker

    द्वारा विनियमित
    CySEC CySEC
    ASIC ASIC
    ट्रेडिंग प्लेटफ़ॉर्म
    • MetaTrader4
    • WebTrader
    डिपाजिट मेथड
    • Bank Transfer
    • Sofort Banking
    • Visa
    • Mastercard
    • Maestro
    • Skrill
    • Neteller
    • Astropay
    Trading Conditions
    • अधिकतम लिवरेज : 400:1
    • न्यूनतम स्प्रैड : 0.9 pips
    • करेंसी पेयर्स : 103
    अकाउंट से स्प्रेड कमीशन निष्पादन न्यूनतम डिपॉजिट
    Islamic 1.9 pips None Instant USD 100 खाता विवरण
    Standard 1.9 pips None Instant USD 100 खाता विवरण
    Premium 1.4 pips None Instant USD 2000 खाता विवरण
    VIP 0.9 pips None Instant USD 10000 खाता विवरण
    TRADING INSTRUMENTS
    • Commodities
    • Cryptocurrencies
    • Forex
    • Indicies
    • Metals
    • Vanilla Options
    TRADING PLATFORMS
    • MetaTrader4
    • WebTrader
    DEPOSIT METHODS
    • Bank Transfer
    • Sofort Banking
    • Visa
    • Mastercard
    • Maestro
    • Skrill
    • Neteller
    • Astropay
    Trading Conditions
    • Max. Leverage : 400:1
    • Min. Spread : 0.9 pips
    • Currency Pairs : 103

फोरेक्स में CFD ट्रेडिंग क्या है?

CFD ट्रेडिंग, या कॉन्ट्रैक्ट फॉर डिफरेंस (Contract for Difference) में निवेशक जिन परिसंपत्तियों (Assets) में निवेश करते हैं उसका स्वामित्व नहीं लेते हैं, और पॉपुलर वित्तीय बाजारों की बड़ी रेंज में व्यापार की सहूलियत देते हैं। इसके बजाय ट्रेडर परिसंपत्तियों की फ्यूचर प्राइस पर अटकलें लगाते हैं जिसे वायदा अनुबंध (futures contract) के नाम से जाना जाता है। ऑनलाइन CFD ट्रेडिंग रिटेल ट्रेडरों के बीच बहुत पॉपुलर है। चूंकि CFD परिसंपत्तियों की कीमतों पर लगाई जाने वाली अटकलें है, सीएफडी ट्रेडिंग में लगे कारोबारी इस बाजार के चढ़ने या गिरने से पैसा कम सकते हैं। सीएफडी ट्रेडर लॉन्ग पोजीशन लेंगे अगर बाज़ार बुलिश हो, जबकि बाजार अगर बियरिश हो तो शार्ट पोजीशन अपनाएंगे। सीएफडी लीवरेज प्राप्त प्रोडक्ट हैं। इसका मतलब है कि ट्रेडर इस ट्रेड में कुल निवेश का अल्प प्रतिशत ही लगायेंगे और बाकी राशि कोई तीसरी पार्टी, मसलन कोई बैंक उधार में देगा। अकाउंट में मौजूद पैसा नुकसान के मामले में संपार्श्विक (collateral) के रूप में उपयोग किया जाएगा, लेकिन इसका मतलब है कि मुनाफा बहुत बड़ा भी हो सकता है।

CFD ट्रेडिंग व्यक्तिगत शेयरों, स्टॉक इंडेक्स, कमोडिटी, बॉन्ड, कीमती धातुओं और विदेशी मुद्रा सहित अधिकांश वित्तीय बाजारों में पाया जाता है। फोरेक्स ट्रेडिंग में, ट्रेडर करेंसी-जोड़े के मूल्य पर अटकले लगा रहे हैं और मुद्राओं पर लॉन्ग और शार्ट पोजीशन ले रहे हैं। लीवरेज का उपयोग फोरेक्स में भी किया जाता है, और फोरेक्स ब्रोकर और ट्रेडिंग में आपके तजुर्बे के आधार पर 1:100 से 1:1000 तक के लीवरेज की पेशकश की जा सकती है। फोरेक्स ट्रेडिंग ऑनलाइन कारोबारियों के बीच लोकप्रिय है, इसलिए यदि आप विदेशी मुद्रा व्यापार में दिलचस्पी रखते हैं, तो पढ़ें कि फोरेक्स ट्रेडिंग कैसे काम करता है और कैसे एक ट्रेडिंग प्लान विकसित की जा सकती है।

सीएफडी ट्रेडिंग में आप कैसे पैसा कमाते हैं?

सीएफडी कारोबार में पैसा कमाने के लिए, आगे बाजार किस ओर जायेगा इसका एक व्यापारी को सटीक अनुमान लगाना और अपनी पोजीशन लेना पड़ता है। वे थोड़े से लोग जो इस काम में माहिर हो जाते हैं, उनके लिए यह बहुत लाभदायक हो सकता है। उदाहरण के तौर पर, यदि आप एक XYZ कंपनी के 5 शेयर खरीदना चाहते हैं जो $200 पर कारोबार कर रहा है, तो आपको $1000 का भुगतान करना होगा। लेकिन अगर आपने $200 पर 5 XYZ सीएफडी कॉन्ट्रैक्ट खरीदा है और मार्जिन 5% था, तो आपका व्यय केवल $ 50 होगा। इसलिए कीमत में कोई भी वृद्धि होने पर निवेश पूंजी पर 20 गुना रिटर्न मिलेगा, लेकिन संभावित नुकसान भी इतना ही नाटकीय हो सकता है।

CFD ट्रेडिंग बनाम स्टॉक ट्रेडिंग

CFD ट्रेडिंग कैसे काम करता है?

हर शेयर या परिसंपत्ति (एसेट) की खरीद और बिक्री मूल्य है जिसे बिड (बोली) और ऑफर प्राइस के रूप में जाना जाता है, जो अंतर्निहित बाजार से हासिल किया जाता है। यदि आपको लगता है कि बाजार मूल्य बढ़ेगा तो आप माँगे जाने वाले मूल्य पर खरीदते हैं, जिसे लॉन्ग करना कहते हैं। यदि आपको लगता है कि बाजार मूल्य भविष्य में गिर जाएगा, तो आप बोली लगाईं जाने वाली मूल्य पर बेचते हैं, जिसे शार्ट करना भी कहते हैं। बाजार जितना ज्यादा आपके द्वारा की गयी भविष्यवाणी की ओर जाएगा आपको उतना ज्यादा मुनाफ़ा देता है। जितना अधिक बाजार विपरीत दिशा में जाएगा उतना ही अधिक आपको नुकसान हो सकता है। बेशक यह आप पर निर्भर करता है कि आप ट्रेड को कब तक खुला रखते हैं। वे ट्रेडर जो CFD ट्रेडिंग शुरू करना चाहते हैं, उन्हें ट्रेडिंग से पहले इस पूरे मैकेनिज्म को पूरी तरह से समझने की जरूरत है। सीएफडी को मार्जिन पर ट्रेड किया जाता है, आप केवल अपने सीएफडी ब्रोकर द्वारा निर्धारित आवश्यकताओं के आधार पर ट्रेड का एक अल्प प्रतिशत ही संपार्श्विक (collateral) के रूप में डालते हैं। एक ट्रेडर के रूप में आप मार्जिन पर ट्रेड करते हैं, और व्यापार करने के लिए आपको ट्रेड की पूरी लागत नहीं डालनी पड़ेगी, जैसा कि आप स्टॉक ट्रेडिंग में करेंगे। आपको अपने सीएफडी ब्रोकर के बताये अनुसार अपने अकाउंट में मार्जिन की एक निश्चित मात्रा बनाए रखने की जरूरत होती है, लेकिन यह शेयरों को सीधे खरीदने वाली लागत का एक अंश ही है।

क्या इस्लाम में सीएफडी कारोबार की मंजूरी है?

ट्रेडर हलाल अकाउंट खोल सकते हैं, जिसे उद्योग ने स्वैप-फ्री अकाउंट का नाम दिया है। स्वैप-मुक्त खाते ब्रोकर से आपको या आपके द्वारा ब्रोकर को किए गए किसी भी ब्याज भुगतान को रोक देंगे। ये हलाल अकाउंट आपकी सोच से कहीं ज्यादा आम हैं, और इसलिए अधिकांश CFD ब्रोकर इसे अच्छी तरह से करते हैं। स्वैप-फ्री अकाउंट पाने का आम तरीका नियमित पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करना है और अपने अकाउंट मेनेजर से आपके अकाउंट में बदलाव करने के लिए कहना है।

क्या सीएफडी कारोबार जुआ है?

CFD ट्रेडिंग गैंबलिंग हो सकती है, अगर आपको इस रूप में देखते हैं लेकिन यदि आप अपनी रिसर्च करते हैं और इसे वित्तीय बाजारों में किसी भी अन्य निवेश के रूप में लेते हैं, तो यह जुआ नहीं है। यह याद रखना अहम है कि अपने डिपाजिट के रूप में लीवरेज के जोखिम आपके कुल एक्सपोजर का बहुत छोटा सा हिस्सा है और अगर ट्रेड आपके खिलाफ चला गया तो आपकी जमाराशि से काफी ज्यादा नुकसान आपको उठाना पड़ सकता है। हालांकि, स्टॉप ऑर्डर का उपयोग करके आप अपने संभावित नुकसान को कम कर सकते हैं। इसका अर्थ यह है कि यदि ट्रेड आपके द्वारा निर्दिष्ट राशि के खिलाफ जाता है तो ट्रेडिंग अपने आप बंद हो जाएगा। सीएफडी ट्रेडिंग में ऊँचे स्प्रैड्स एक और चोर-गड्ढा हो सकता है, क्योंकि यह किसी भी संभावित मुनाफे को बर्बाद कर सकता है। इसलिए जिन परिसंपत्तियों में आपको ट्रेडिंग करनी हैं उनका चुनाव ध्यान से करें।

CFD ट्रेडिंग कैसे शुरू करें

सीएफडी ट्रेडिंग शुरू करने के लिए आपको एक प्रतिष्ठित ब्रोकर ढूंढना होगा और अकाउंट खोलना होगा। चूंकि यह एक फाइनेंसियल ट्रेडिंग अकाउंट है, ब्रोकर के लिए यह आवश्यक होगा कि आप अपने सरकारी इश्यू के पहचान दस्तावेज की प्रतियां और आवास प्रमाण जैसे कि पिछले छह महीनों में जारी उपयोगिता बिल प्रस्तुत करें। एक बार आपका अकाउंट सेटअप हो जाने के बाद, आप जमा करने और अपना पहला ट्रेड शुरू करने में सक्षम हो जायेंगे।

CFD ट्रेडिंग में कमीशन

सीएफडी ट्रेड को खोलने या बंद करने के लिए आपके डिपाजिट के अलावा आपको एक छोटा कमीशन देना पड़ सकता है, जो 0.1% जितना कम हो सकता है। सूचकांक और फोरेक्स जैसे अन्य बाजार कमीशन-मुक्त हैं। यदि आप रात भर तक अपने ट्रेड को होल्ड करते हैं और किसी डिविडेंड समायोजन पर विचार करते हैं तो आपको अपने ट्रेड में जोड़े या घटाए गए ब्याज एडजस्टमेंट की भी गणना करनी पड़ेगी।

भारत में CFD ट्रेडिंग में टैक्स प्रणाली कैसी है?

सीएफडी ट्रेडिंग से होने वाला लाभ आय के रूप में टैक्स योग्य हैं। आप जिस ब्रोकर का उपयोग कर रहे हैं वह भारत के बाहर है, तो भी यही होगा। सरकार कभी भी सीएफडी ट्रेडिंग को करमुक्त रूप में नहीं देखती।

CFD सारांश

सीएफडी के प्रारूप अंतर्निहित परिसंपत्तियों की कीमतों को प्रतिफलित करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। इस तरह आप अंतर्निहित साधन पर स्वामित्व हासिल किये बिना कीमत में उतार-चढ़ाव का लाभ उठा सकते हैं। तकनीकी रूप से सीएफडी एक ट्रेडर और सीएफडी ब्रोकर के बीच फाइनेंसियल कॉन्ट्रैक्ट है और आपको यह अनुमान लगाने की सहूलियत देगा कि कीमत ऊपर जायेगी या नीचे जाएगी। सीएफडी अन्य वित्तीय साधनों के मुकाबले एक लचीला और आकर्षक विकल्प है, इसलिए आपको कई वैकल्पिक विकल्पों का पता लगाने की सुविधा देता है। सीएफडी ट्रेडिंग आपको बाजार बढ़ने या गिरने दोनों ही स्थितियों में पैसा कमाने की अनुमति देती है। आपको बाजार में अपने निवेश की पूरी लागत नहीं डालनी पड़ती और आपके ट्रेड की कोई निश्चित समय-सीमा भी नहीं है। सीएफडी के जरिये आप लीवरेज का उपयोग करके अपनी निजी पूंजी की कई गुना धनराशि के साथ ट्रेड करने में सक्षम होंगे।

फॉरेक्स और CFD की ट्रेडिंग सभी निवेशकों के लिए उपयुक्त नहीं होती है और लीवरेज के कारण तेजी से पैसा गंवाने का हाई रिस्क लिए होती है। 75-90% रिटेल इन्वेस्टर इन प्रोडक्ट में ट्रेडिंग करते हुए पैसा गंवाते हैं। आपको यह तय करना चाहिए कि क्या आप समझते हैं कि CFD ट्रेडिंग कैसे काम करती है और क्या आप पैसा गंवाने का भारी जोखिम उठाने की स्थिति में हैं।