फोरेक्स ब्रोकर जो भारतीय क्लाइंट को स्वीकार करते हैं

विदेशी मुद्रा कारोबार (Foreign Exchange trade) में भारतीय ट्रेडरों के लिए उपलब्ध ये बेहतरीन फोरेक्स ब्रोकर हैं। विदेशी मुद्रा व्यापार में सर्वोत्तम ब्रोकर चुनने में आपकी मदद करने के लिए हमने एक गाइड के रूप में सबको इकट्ठे पेश किया है। ये भरोसेमंद इंटरनेशनल ब्रोकर हैं जो भारतीय अकाउंट और डिपाजिट को स्वीकार करते हैं। वैसे तो ट्रेडरों के सामने ब्रोकर जो विकल्प पेश करते हैं, वे बुनियादी रूप से एक से होते हैं, लेकिन कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जो इन ब्रोकरों को उनसे अलग करते हैं।

अगर मैं विदेशी मुद्रा की ट्रेडिंग में नया होता और मुझे इस सूची से चुनना होता, तो मैं यह देखता कि कौन सा ब्रोकर कम डिपाजिट लेता है, क्या उस ब्रोकर की वेब-आधारित एप्लिकेशन में सोशल ट्रेडिंग है, क्या वह ब्रोकर ट्रेड पर कमीशन लेता है और बोनस पर भी जो पेशकश हर कोई शुरुआती जमाकर्ताओं को करता है। मुख्य रूप से, सबसे अहम यह है, आप समझें कि विदेशी मुद्रा की ट्रेडिंग प्रक्रिया कैसे काम करती है, और यह कि आप डेमो अकाउंट में साइन अप करने का विकल्प चुन सकें जिसका उपयोग आप डिपाजिट करने से पहले सही ब्रोकर खोजने में कर सकते हैं।

टॉप रेगुलेटेड फोरेक्स ब्रोकर


AVATRADE के साथ मेरा अनुभव

मुझे एवाट्रेड पसंद है क्योंकि यह पूरी तरह से स्थापित ब्रोकर है, जो सभी बेसिक सुविधाएं देता है और उन्हें बड़ी अच्छी तरह से करता है। एवाट्रेड को दक्षिण अफ्रीका में CySEC, ASIC और FSB द्वारा नियंत्रित किया जाता है। वे शुरुआती ट्रेडरों के लिए प्रशिक्षण देते हैं जिससे आप सीख सकें। वे सभी प्रमुख ट्रेडिंग सॉफ्टवेयर को सपोर्ट देते हैं, जिससे ब्रोकर बदलने पर आपको सॉफ़्टवेयर बदलने की ज़रूरत न पड़े। यदि आप नए हैं और भारत में ट्रेडिंग शुरू करने की सोच रहे हैं, तो एवाट्रेड की पूरी सिफ़ारिश की जाती है।


ETORO के साथ मेरा अनुभव

एटोरो का बेहद कामयाब यूजर बेस है जिसने इसे असरदार सोशल ट्रेडिंग टूल बनने में सक्षम बनाया है और ब्रोकरेज में शामिल दूसरे कामयाब ट्रेडरों को फॉलो करने के लिए कारोबारियों को प्रोत्साहित करता है। मैं इस ब्रोकर को किसी भी नयी शुरुआत करने वाले के लिए सिफारिश करूँगा क्योंकि प्रैक्टिस अकाउंट में अभ्यास करने के लिए बहुत पैसा है। उनका सॉफ़्टवेयर ट्रेडिंग को आसान बना देता है और कई जटिलताओं को कम करता है। 400:1 के ऊँचे लीवरेज की वजह से मैं इसकी सिफारिश एडवांस्ड ट्रेडरों के लिए भी करूंगा, जिससे बड़ा कारोबार भी आसान हो जाता है। हालांकि डाउनटाइम और इसके सॉफ़्टवेयर के थोड़ा पिछड़े होने की वजह से एटोरो पूरी तरफ परफेक्ट नहीं है, लेकिन इस ब्रोकर के अच्छे पक्ष इसकी कमियों को बहुत पीछे छोड़ देते हैं।


EASY MARKETS के साथ मेरा अनुभव

यदि आपने पहले कभी मेटाट्रेडर प्लेटफ़ॉर्म के साथ ट्रेड किया है, तो आपको इस ब्रोकर को पसंद करना चाहिए क्योंकि आपको अपने अकाउंट को कॉन्फ़िगर करने की लम्बी-चौड़ी प्रक्रिया से नहीं गुजरना होगा। हालांकि वेबसाइट और साइन-अप की प्रक्रिया आसान हो सकती है, और मदद के लिए जब फोन किया जाता है, तो कर्मचारी भी आपका गर्मजोशी से स्वागत करते हैं, सहायता करते हैं। यदि आप अच्छी लीवरेज वाला ब्रोकर चाहते हैं, तो इजी मार्केट्स शायद आपके लिए नहीं है। लेकिन यदि आप कम जोखिम वाला ट्रेडिंग करियर शुरू करना चाहते हैं तो इसका कम लीवरेज आपके पक्ष में काम आता है।

XM के साथ मेरा अनुभव

मैंने पहली बार एक्सएम (पूर्व का ट्रेडिंग पॉइंट) का उपयोग उस समय शुरू किया जब मैं बाइनरी ऑप्शन की ट्रेडिंग कर रहा था, और वास्तव में इस ब्रोकर के एडवांस्ड उपयोगों को पसंद किया। इस ब्रोकर के पास भारी लीवरेज है, और खूब स्प्रैड्स भी, लेकिन जोखिम कम करने के लिए हेजिंग की अनुमति है। यदि आप अनुभवी ट्रेडर हैं या अपने बलबूते सीखना चाहते हैं, तो ट्रेडिंग प्वाइंट आपके लिए है। इस ब्रोकर के माइक्रो और ज़ीरो अकाउंट पर कोई न्यूनतम डिपाजिट नहीं है जो इसे नए ट्रेडरों के लिए बेहद आकर्षक बनाता है।


प्र’ ‘सेशन भविष्य के ट्रेडरों के लिए

फोरेक्स ब्रोकर क्या है?

वित्तीय बाजारों में, फोरेक्स ट्रेडर या विदेशी मुद्रा ब्रोकर एक मध्यस्थ होता है जो लोगों को इंटरबैंक मार्केट तक पहुंचने की सहूलियत देता है। इंटरबैंक मार्केट बैंकों और इलेक्ट्रॉनिक ब्रोकिंग प्लेटफॉर्म का एक नेटवर्क होता है जो एक-दूसरे से ट्रेड करते हैं और लिक्विडिटी उपलब्ध कराते हैं। एक फोरेक्स ब्रोकर आपको करेंसी के भाव की पेशकश करता है, जिस पर आप एक्सचेंज में छोटी सी फीस या कमीशन के बदले में खरीद और बिक्री कर सकते हैं।

फोरेक्स ब्रोकर क्या करते है?

फोरेक्स ब्रोकर क्लाइंट के ऑर्डर को मैच कराता है, आंतरिक रूप से किसी दूसरे क्लाइंट के साथ या अपने लिक्विडिटी प्रदाताओं तक ऑर्डर प्रेषित करके। कुछ मामलों में एक फोरेक्स ब्रोकर आपकी लेनदेन का एकमात्र विपरीत पार्टी हो सकता है। एक फोरेक्स ब्रोकर के दो मौलिक कार्य हैं: कारोबारियों को विदेशी मुद्रा बाजार से जोड़ना और दूसरे, खरीद और बिक्री के लिए आपको करेंसी कोट की पेशकश करना।

रेगुलेटेड फोरेक्स ब्रोकर क्या हैं?

एक विनियमित फोरेक्स ब्रोकर लाइसेंस प्राप्त फोरेक्स ब्रोकर है जो सरकारी नियामक एजेंसियों द्वारा निर्धारित सीमाओं के भीतर काम करता है। नियामक एजेंसियां ​​यह सुनिश्चित करती हैं कि संभावित धोखाधड़ी से खुदरा विदेशी मुद्रा व्यापारियों को उचित सुरक्षा और साफ़-सुथरा ट्रेडिंग माहौल मिले। एक पर्यवेक्षी एजेंसी से जुड़े एक फोरेक्स ट्रेडर को अधिक ईमानदार माना जाता है।

प्रमुख नियामक कौन हैं? (सीवाईएसईसी, एफसीए, एएसआईसी, अन्य)

टॉप नियामक एजेंसियां ​​हैं:

  • अमेरिका – नेशनल फ्यूचर्स एसोसिएशन (NFA) और कमोडिटी फ्यूचर्स ट्रेडिंग कमीशन (CFTC)
  • यूरोप – वित्तीय सेवा प्राधिकरण (FSA, UK) और साइप्रस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन (CySEC)।
  • ऑस्ट्रेलिया – ऑस्ट्रेलियाई प्रतिभूति और निवेश आयोग (ASIC)
  • दक्षिण अफ्रीका – दक्षिण अफ्रीका वित्तीय सेवा बोर्ड (FSB)
  • मलेशिया – मलेशिया का सिक्युरिटी कमीशन मलेशियाई फोरेक्स ब्रोकरों का प्रभारी है।

फोरेक्स ब्रोकर पैसा कैसे कमाते हैं?

फोरेक्स करेंसी मार्केट में आपको पहुंच प्रदान करने की सहूलियत देने के बदले अधिकांश फोरेक्स ब्रोकर अपने क्लाइंट से कमीशन या स्प्रैड्स का शुल्क लेंगे। यह विदेशी मुद्रा बाजार में कारोबार करने की लागत से जुड़ा हुआ है। हालांकि, विदेशी मुद्रा ब्रोकर तीन अलग-अलग तरीकों से पैसा कमा सकते है। कमीशन व स्प्रैड के अलावा भी वह पैसा कमा सकता है अगर आपका ब्रोकर मार्केट मेकर है और आपके ट्रेड के दूसरे सिरे पर भी मौजूद है। हर बार जब आपको नुकसान होता हैं, तो वह पैसा कमाता है।

क्या आप फोरेक्स ब्रोकर पर भरोसा कर सकते हैं?

भले ही आपका फोरेक्स ब्रोकर विनियमित हो और उसकी जबरदस्त प्रतिष्ठा हो, तो भी अपने अंडों को अलग-अलग बास्केट में रखना ही अच्छी रणनीति होती है। दूसरे शब्दों में, जहाँ आप निश्चित रूप से एक रेगुलेटेड फोरेक्स ब्रोकर पर भरोसा कर सकते हैं, उसके दिवालिया होने की संभावना से आप अपने को सुरक्षित नहीं कर सकते हैं। ऐसे में अपने निजी रिसर्च पर भरोसा करना और अपनी कड़ी मेहनत की कमाई को कई ब्रोकरों के बीच फैलाना ही सबसे अच्छा है। हमने एफएसबी द्वारा नियंत्रित फोरेक्स ब्रोकरों की एक लिस्ट यहाँ बनायी है।

मुझे एक प्रबंधित खाता चाहिए, क्या ब्रोकर यह सेवा देते हैं?

कुछ ब्रोकर आपके लिए एक प्रबंधित खाता संचालित करेंगे, लेकिन यह दुर्लभ है। स्वतंत्र मनी मैनेजर भी हैं जो आपके ट्रेड का प्रबंधन करने में सक्षम होंगे जबकि साथ ही वह वह खुद के भी ट्रेड कर रहे हैं। यह अहम है कि आप अपने प्रबंधित खाते को पढ़ें और इससे जुड़े जोखिम को समझें। कहने की ज़रूरत नहीं कि आप ट्रेडर की परफॉरमेंस देखेंगे, लेकिन इस मामले में वे बहुत पारदर्शी होते हैं।

क्या फोरेक्स ब्रोकर आपके ख़िलाफ़ ट्रेड करते हैं?

अगर आप मार्केट मेकर फॉरेक्स ब्रोकर के माध्यम से ट्रेड कर रहे हैं, तो इस विशेष मामले में, ब्रोकर आपके खिलाफ ट्रेड कर सकता है और आपकी लेनदेन के दूसरे पक्ष में शरीक हो सकता है। मार्केट मेकर के बारे में आपको समझने की जरूरत है कि आपके ट्रेड के दूसरे छोर पर कोई भी व्यक्ति आपको रोकने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास नहीं कर रहा है, ऐसा नहीं होता है।

मार्केट मेकर बस यह कर रहा है कि वह आपकी पोजीशन का दूसरा पक्ष संभाल रहा हैं, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि ज्यादातर रिटेल फोरेक्स ट्रेडर नुकसान झेलते हैं। इस तरह ब्रोकर के लिए आपकी ट्रेड के दूसरे छोर पर होना बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि वह इसमें प्रॉफिट बना सकता है।

एसटीपी / ईसीएन (STP/ECN) फोरेक्स ब्रोकर क्या है?

एसटीपी / ईसीएन फोरेक्स ब्रोकर एक इलेक्ट्रॉनिक कम्युनिकेशन नेटवर्क है और प्रत्यक्ष रूप से मुद्रा लेनदेन के निष्पादन के लिए समर्पित प्रोसेसिंग के जरिये काम करता है। इस प्रकार के ट्रेडिंग माहौल में, आपको लिक्विड प्रदाताओं से जोड़ते हुए आपके ऑर्डर सीधे इंटरबैंक बाजार तक प्रोसेस होते हैं।

मार्केट मेकर ब्रोकर क्या है?

डीलिंग डेस्क ब्रोकर को मार्केट मेकर भी कहा जाता है, जिसका मतलब है कि फोरेक्स ब्रोकर करेंसी की लेनदेन के लिए अपनी खुद की मूल्य दरें निर्धारित करते हैं। संक्षेप में, एक डीलिंग डेस्क ब्रोकर आपके ट्रेड की काउंटर पार्टी यानी दूसरी पार्टी की जगह लेगा। इसका मतलब है, फोरेक्स ब्रोकर अपने क्लाइंट बेस के खिलाफ ट्रेड करता है।

स्कैल्पिंग (SCALPING) क्या है?

फोरेक्स स्कैल्पिंग एक ऐसी स्ट्रेटजी है जिसमें एक ट्रेडर छोटे मुद्रा विनिमय के उतार-चढ़ाव से लाभ कमाता है। आम तौर पर, एक स्कैल्पर दिन में कई बार ट्रेड में एंट्री और एग्जिट करता है और ट्रेड होल्डिंग की अवधि बहुत छोटी होती है (आमतौर पर कुछ मिनट)।

हेजिंग (HEDGING) क्या है?

एक नेगेटिव घटना जो बाजार को आपकी शुरुआती पोजीशन के विरुद्ध ले जा सकती है, करेंसी हेजिंग उसके खिलाफ खुद का बचाव करने का एक तरीका है। अगर आपकी ट्रेड के साथ कुछ गड़बड़ी हो जाए, तो हेजिंग को आप बीमा के रूप में सोच सकते हैं। प्रत्यक्ष हेजिंग (Direct Hedging) तब होती है जब आप एक जोड़ी मुद्रा खरीदते हैं और फिर उसी समय आप इस जोड़ी को बेच देते हैं। अगर आप ऐसे ब्रोकरों की तलाश में हैं जो हेजिंग की सुविधा देते हैं, तो हमारे पास यहां इनकी सूची है।

किस फोरेक्स ब्रोकर को चुनें?

फोरेक्स ब्रोकर का चयन करना बहुत डरावना काम हो सकता है अगर आपके सामने अनगिनत विकल्प मौजूद हैं। हालांकि, हम फोरेक्स ब्रोकर चुनते समय पांच अहम पक्षों पर विचार कर सकते हैं:

  • रेगुलेशन, क्या आपका फोरेक्स ब्रोकर विनियमित है?
  • क्या यह टॉप अग्रणी नियामक निकायों द्वारा नियंत्रित है?
  • आपका ब्रोकर कैसे पैसा कमाता है: स्प्रैड्स और कमीशन या आपके खिलाफ ट्रेडिंग करके?
  • क्या आपका फोरेक्स ब्रोकर सही ECN/STP ब्रोकर है?
  • क्या आपका ब्रोकर स्कैल्पिंग और हेजिंग की सुविधा देता है?

यदि सभी पांच प्रश्नों का जवाब आपको हाँ में मिल जाता है, तो शायद आप एक प्रतिष्ठित फोरेक्स ब्रोकर के साथ सौदा कर रहे हैं।

मेरा ब्रोकर कौन से प्लेटफ़ॉर्म या सॉफ़्टवेयर ऑफ़र करेगा?

कुछ ब्रोकर के अपने स्वामित्व वाले सॉफ्टवेयर होते हैं जबकि दूसरे MetaTrader4, cTrader और अन्य पॉपुलर प्लेटफ़ॉर्म के सॉफ्टवेयर पैकेज का उपयोग करते हैं। अधिकांश ब्रोकरों के अपने फोरेक्स ट्रेडिंग मोबाइल फोन ऐप्स भी होते हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि प्लेटफ़ॉर्म किस प्रकार का है, हर ब्रोकर आपको कुछ ऑफर करने वाला है। यदि आप MetaTrader 4 चुनते हैं, तो इसका सेटअप गाइड यह है।

किस प्रकार की करेंसी और कमोडिटी की मुझे तलाश करनी चाहिए?

एक अच्छे ब्रोकर के पास 30 से 50+ मुद्रा-जोड़े, सोना और चांदी, CFD और अन्य कमोडिटी के विकल्प होते हैं जिनमें आप ट्रेड कर सकते हैं। अगर आप फोरेक्स ब्रोकर की तलाश में हैं, तो भी आपको अकेले मुद्रा पर ही निर्भर होने की ज़रूरत नहीं है।

फोरेक्स ब्रोकर के बीच आपस में तुलना कैसे करें?

ब्रोकरों का मूल्यांकन करने के लिए हम कई कारकों पर विचार करते हैं, और हम इनमें सिर्फ उनको बढ़ावा देते हैं, जिन्हें हम समझते हैं कि वे उपयोग के लायक हैं।

  • हम सिर्फ उन ब्रोकरों को सूचीबद्ध करते हैं जो प्रमुख नियामकों में से किसी एक द्वारा नियंत्रित होते हैं। हमारा मानना ​​है कि एकाधिक नियामकों द्वारा नियंत्रित ब्रोकर भारतीयों के लिए सबसे अच्छे हैं और हम सक्रिय रूप से ब्रोकरों से अनुरोध करते हैं कि हम FSB के सदस्य बनने वालों को सुविधा देते हैं। ये रेगुलेशन आपके फंड को ज्यादा सुरक्षित बनाते हैं।
  • कुछ ट्रेडरों के लिए शुरुआत में कम डिपाजिट का विकल्प महत्वपूर्ण होता है। हम उन ब्रोकरों की सराहना करते हैं जो नए ट्रेडरों के लिए माइक्रो अकाउंट की पेशकश करते हैं और माइक्रो लॉट में कारोबार की सुविधा देते हैं जिससे ट्रेडर केवल उन जोखिमों का रिस्क उठायें जिन्हें वे समझते हैं कि उठाने लायक हैं।
  • ट्रेडरों को समझन लेना चाहिए, वह डीलिंग डेस्क ब्रोकर है या गैरडीलिंग डेस्क ब्रोकर है। इससे ब्रोकर पैसे कैसे कमाता है, यह साफ़ हो जाता है और यह भी कि हितों का टकराव किन मुद्दों पर हो सकता है।
  • सर्वश्रेष्ठ ब्रोकर मुफ्त शैक्षिक सामग्री और कोचिंग प्रदान करते हैं जिसकी ज़रूरत ट्रेडर को शुरू में होगी और कभी-कभी ब्रोकर किसी ब्यौरे को स्पष्ट करने के लिए फोन कॉल भी कर सकता है।
  • हम फोरेक्स ट्रेडिंग ब्रोकर के सपोर्ट सिस्टम और उनकी कारोबारी स्थिति की रिव्यु करना पसंद करते हैं। इनमें उपलब्ध फोरेक्स मार्केट ऑर्डर के प्रकार और ट्रेडिंग लागत जैसी चीजें आती हैं। हम उन ब्रोकरों की पहचान करने की कोशिश करते हैं जिनके पास कारोबार के लिए सबसे ज्यादा करेंसी पेयर का विकल्प उपलब्ध हैं।

हमने इंडस्ट्री में कई सालों से काम किया है, और हम ब्रोकरों और इस कम्युनिटी में उनकी प्रतिष्ठा से अच्छी तरह वाकिफ हैं। हमारा मानना ​​है, आपका फोरेक्स ट्रेडिंग अनुभव सुरक्षित और दिलचस्प होना चाहिए।

अंतिम नोट

अपनी जरूरतों और आकांक्षाओं के नजरिये से प्रत्येक फोरेक्स ट्रेडर अलग होता है, इसलिए सभी ब्रोकरों पर फिट होने वाला कोई एक मानदंड नहीं है। अपनी ज़रूरतों के हिस्साब से सबसे उपयुक्त ब्रोकर पाने के लिए रिव्यु पढ़ना और हर ब्रोकर के बारे में सही जांच-पड़ताल की प्रक्रिया पर अमल करना निश्चित करें। सर्वश्रेष्ठ प्लेटफ़ॉर्म और सर्वोत्तम अकाउंट चुनने में पूरा समय लगाएं और यह पक्का कर लें कि कारोबार से जुड़े तमाम जोखिम को आपने अच्छी तरह से समझ लिया है।

Trading Forex and CFDs is not suitable for all investors and comes with a high risk of losing money rapidly due to leverage. 75-90% of retail investors lose money trading these products. You should consider whether you understand how CFDs work and whether you can afford to take the high risk of losing your money.
+ +